“सदा एक रस, सम्पूर्ण चमकता हुआ सितारा बनो

27/08/17 मधुबन “अव्यक्त-बापदादा” ओम् शान्ति 28-12-82 “सदा एक रस, सम्पूर्ण चमकता हुआ सितारा बनो” बापदादा सभी बच्चों को देख हर बच्चे के वर्तमान लगन में मगन रहने की स्थिति और भविष्य प्राप्ति को देख हर्षित हो रहे हैं। क्या थे, क्या बने हैं और भविष्य में भी क्या बनने वाले …